ऐ अन्ज़ान,
तुम मेरी जिन्दगी की वो कमीं हो,
जो जिन्दगी भर रहोगे।

उन्होंने तो बेवफाई की हद ही पार दी दोस्तों
उनसे ज्यादा वफादार तो उनकी यादें निकली…

वो हाथ कुछ अजीब से लगते हैं किसी और के हाथों में,
जिन हाथों की चूड़ियाँ कभी टूटी थी मेरे ही हाथों में…

हर किसी के नसीब में कहाँ लिखी हैं चाहतें,
कुछ लोग दुनिया में आते हैं सिर्फ तन्हाईयों के लिए…

रुक गया वो वक़्त की निशानी बन के, बह गया एक दिन आँख का पानी बन के,
अजीब कशमकश बन गयी है जिंदगी, ऐ मौत तू ही मिल जा अब इश्क की निशानी बन के… Read more

वो क्या जाने प्यार की कीमत क्या होती है, जब नहीं मिलता प्यार तो आँखें कितनी रोटी हैं,
कभी ना कभी तो वो किसी से दिल लगाएगी, करेगा वो बेवफाई तो मेरी वफ़ा की याद आएगी..
Read more

तुम अपने ज़ुल्म की इन्तेहाँ कर दो,
फिर कोई हम सा बेजुबां मिले ना मिले…<3

अगर मुहब्बत की हद नहीं कोई,
तो फिर दर्द का हिसाब क्यों रखूँ…<3

अगर वो पूछ लें हम से तुम्हें किस बात का गम है,
तो फिर किस बात का गम है अगर वो पूछ लें हम से…<3

मैंने भी दिल के दरवाजे पर चिपका दी है एक चेतावनी,
फ़ना होने का दम रखना तभी भीतर कदम रखना ।।

उसे किसी की मुहब्बत का ऐतबार नहीं,
उसे ज़माने ने शायद बहुत सताया है…<3

मुझे कुछ अफ़सोस नहीं के मेरे पास सब कुछ होना चाहिए था ।

मै उस वक़्त भी मुस्कुराता था जब मुझे रोना चाहिए था ।

नमक तुम हाथ में लेकर, सितमगर सोचते क्या हो,,
हजारों जख्म है दिल पर, जहाँ चाहो छिड़क डालो…

बना के छोड़ देते हैं अपने वजूद का आदि मोहसिन,
कुछ लोग इस तरह भी मुहब्बत का सिला देते हैं…

मिटा दे उसकी तस्वीर मेरी आँखों से ऐ खुदा,
अब तो वो मुझे ख्वाबों में भी अच्छी नही लगती…