होठो पे हंसी सजाये रखना दिल में सदा सकून रखना
ना जाने कब खुदा की रहम हो जाये और तख़्तो ताज पर हमे सजाये ।

Nisha nik

मैं कब कहता हूँ वो अच्छा बहुत है
मगर उसने मुझे चाहा बहुत है

खुदा इस शहर को महफूज़ रखे  Read more

वो हंसी शाम जो उधार है तुम्हारी मुझ पर
फक़त उसके सहारे सदियां गुज़ार आये..
आभा…

अगर आपका साथ मिल जाये तो ये जिंदगी बड़ी हसीन हो जायेगी
आपकी महफिलें हम सजा देंगे ओर हमारी आपके आने भर से सज जायेंगी।

मर्ज़ भले कोई हो ट्रीटमेंट ज़रूरी है
जंक फूड के साथ सप्लिमेंट ज़रूरी है

रखिये न इसे बाँधकर ज़ोर ज़बर दस्ती से  Read more

बहुत गरीबाँ हूँ मै, इतना होते हुये,
कितना रोया था मै,तुमको खोते हुये,

तेरी यादों के संग,अब जीता हूँ मै,  Read more

यूँ तो वक्त बहुत है पर
एक लम्हे को तरसते है हम
वैसे तो खिलखिलाते रहते हैं पर  Read more

कब हँसा था जो ये कहते हो की रोना होगा,
अब होके रहेगा मेरी किस्मत में जो होना होगा…

ज़माना मेरी हँसी को,मेरी ख़ुशी समझता रहा,
मै ऐसे ही उन्हें भुलाने की,कोशिश करता रहा,

कभी चोट खाई थी,प्यार में इस दिल में भी,
एक दर्द सा ताउम्र को, Read more