उसकी सोच का आयाम तंग होता जा रहा है |

मृगमरीचिका सी लालसा के पीछे लपकता जा रहा है |  Read more

चेहरों की धूप आँखों की गहराई ले गया|
आईना सारे शहर की बीनाई ले गया|

डूबे हुए जहाज़ पे क्या Read more