फेर ली ग़र निगाहें, हया से किसी ने,
फ़कत इक नजाकत थी,नफरत न थी।

फिर तकल्लुफ किया,बदली राहें सभी,  Read more

चाँद भी शरमाता है, यूँ देख के तेरा बाँकपन,
गैरों से तो ठीक है, अपनों से कैसा परदापन,

जाने कब जानोगी तुम, प्यार है ये जन्मों का,  Read more

निकल पड़ता है घर से रोज़ दर्द-ए-दिल भुलाने को,
राह पकड़ता है बुतख़ाने की या जाता है मयख़ाने को।

मेरे माज़ी के मुझपे हैं कुछ एहसान बेशुमार,  Read more

तेरी  दोस्ती  को  ज़िंदगी  की  जान  मानती हूँ
लबों की मुस्कुराहट दिल का अरमान मानती हूँ

खुदा  के बनाये रिश्ते बहुत अनमोल हैं लेकिन  Read more

प्यार की राह में ऐसे भी मक़ाम आते हैं |
सिर्फ आंसू जहाँ इन्सान के काम आते हैं ||

उनकी आँखों से रखे क्या कोई उम्मीद-ए-करम | Read more

तेरे कदमो की आहट रात भर सोने नही देती
इस कदर दिल पर मेरे तुम राह बनाये हो

नीतू

राह में ख़तरे भी हैं लेकिन ठहरता कौन है
मौत कल आती है आज आ जाए डरता कौन है

सब ही अपनी तेजगामी Read more