आज वो मुझसे इतना खफा क्यों है,
है नफरत तो आँखों में बफा क्यों है।

अब तो उनके कूँचे में आना-जाना भी नहीं,  Read more

दिल में ना हो जुर्रत तो मोहब्बत नहीं मिलती
खैरात में इतनी बड़ी दौलत नहीं मिलती

कुछ लोग यूँ ही Read more

अजीब शख्स है नाराज़ हो के हँसता है,
मैं चाहता हूँ खफ़ा हो तो वो खफ़ा ही लगे…

-बशीर बद्र

किस-किस को बतायेंगें जुदाई का सबब हम,
तू मुझसे खफ़ा है तो ज़माने के लिए आ…

वो नहीं मिला, तो मलाल क्या , जो गुज़र गया, सो गुज़र गया
उसे याद करके न दिल दुखा , जो गुज़र गया, सो गुज़र गया

न गिला किया, न ख़फ़ा हुए, Read more