तेरे दिल में मेरे प्यार की जो बातें हैं,
तुझे उन बातों की कसम,

तेरे प्यार के किस्से मेरे हिस्से…  Read more

न देखिये यूं तिरछी निगाहों से मुझे,
अभी-अभी तो होश में आया हूँ मैं।

मदहोश था अब तक उनकी आराईश में यूं, Read more

ये अलहड सी हवायें,
मुझको तेरी याद दिलाती हैं।
जब पूरवायि चलती हैं
तो तेरे पास होने का ऐहसास दिलाती है।
ये गरम-गरम सी हवायें तेरे दूर होने की
खबर से मेरे दिल को जलाती है।
ये अलहड सी हवायें ,
मुझको तेरी याद दिलाती है।

जो भी मेरी ज़िंदगी में ख़ास रहा है
यूँ समझो मुहब्बत का अहसास रहा है

—–सुरेश सांगवान’सरु’

एक जंगल में घूम रही हूँ रातदिन
शेर भालू चीते देख रही हूँ रात दिन

नज़रों की खरोंचे सहती हूँ रातदिन  Read more