क्या हार में क्या जीत में किंचित नही भयभीत में,
कर्तव्य पथ पर जो भी मिले जीत भी सही और हार भी सही !

जन्म लिया है तो सिर्फ साँसें मत लीजिये, जीने का शौक भी रखिये..
शमशान ऐसे लोगो की राख से.. भरा पड़ा है
जो समझते थे…कि दुनिया उनके बिना चल नहीं सकती ?
अतुल अंज़ान