मैं पल दो पल का शायर हूँ, पल दो पल मेरी कहानी है
पल दो पल मेरी हस्ती है, पल दो पल मेरी जवानी है

मुझसे पहले कितने शायर, आए और आकर चले गए
कुछ आहें भर कर लौट गए, कुछ नग्में गा कर चले गए Read more

तेरा हाथ, हाथ में हो अगर, तो सफर ही असले हयात है.
मेरे हर कदम पे है मंज़िलें, तेरा प्यार ग़र मरे साथ है,

मेरी बात का मेरी हमनफ़स, तू जवाब दे कि ना दे मुझे, Read more