कहीं रातो से जागी हूँ मुझे इस रात सोने दो,
तेरे गितो को सुनकर के मुझे बेहोश होने दो,
कहीं सदियों से बस मैं युहि हसती आई हूँ
तुमसे मिलकर आज मुझको ये पलकें भिगोना दो,
बहुत ढूंढा है जिन्दगी को, इतना थक चुकी हूँ मैं,
कि बस अब मुझे जमाने में कहीं गुमनाम रहने दो,

अनकहे इश्क़ की भी क्या अजीब हकीकत हैं,
बस निखरता ही जाता हैं यूँ वक्त गुजरते गुजरते..

ये मौत क्या दफन करेंगी हमारी सांसों को…
जब हमारी सांसों पर हमारा अधिकार ही न रहा…
हम बस कहते रहे कि हमें मुहब्बत नहीं उनसे…
और न जाने कब हमारे दिल पर हमारा इख्तीहार ही न रहा…

नजदीकियां तो हम भी बढ़ा लेते उनसे…
पर एक तरफा इश्क़ के खुमार का, नशा ही कुछ ओर था …
मेरे अजीब दोस्तों का तुम्हें भाभी कह के बुलाना और Read more

इत्तफाक से हमने कुछ दूर से ही देखा था उन्हे उस रोज़, यूँ निगाह बदलते बदलते…
के आज तक हमारी धड़कने बगावत करती आई है हमसे हर रोज़, हमें कोई गैर समझते समझते…

अच्छा ही था जो करीब से ना गुजरे… वरना,
बन्दा तो कब का परवरदिगार का मुलाजिम हो चुका था यूँ बेगैरत-ईमान फिसलते फिसलते…

ना पूछो के मंजिल का पता क्या है,
अभी बस सफर है सफर का दीदार  होने दो…

हमें परवाह नहीं की जीत  हमारी है या हार, Read more

अभी इन आँखों पर पलकों का गुज़र जाना बाकी है,
ये नींद सामने है पर आपकी आँखों पर संवर जाना बाकी है,
रात गहरी है और सपनो का बिखर जाना बाकी है,
आप मुराद मांगिये तो सही ये सितारा अभी टूटा नहीं, इसका टूट जाना अभी बाकी है. Read more

आज आप भी तन्हाई में किसी को याद करते होंगे,
हमे यकीं है वो आपके लिए कुछ ख़ास रहे होंगे…
दिली तमन्ना है हमारी रब से के आपको वो जल्द मिले,
मुझे पता है वो दूर रह के भी दिल के पास रहे होंगे…  Read more

Tumhare ishq Ki nilaami k asli hakdaar to hum the,
phir Kyu tumne Hume isse dur kar diya……..
Is kahani m jo kissa sabse bura Tha,
tumne use hi kyo mashoor kar diya…

हमारी आँख में रह कर भी हमसे दूर कितने हैं
उनके पास होकर भी हम मजबूर कितने हैं
दिल धड़कता है तो आवाज़ गुंजती है
उनकी याद में रहकर के हम खामोश इतने हैं

हमारी आँख में रह कर भी हमसे दूर कितने हैं
उनके पास होकर भी हम मजबूर कितने हैं
दिल धड़कता है तो आवाज़ गुंजती है
उनकी याद में रहकर के हम खामोश इतने हैं

सुबह की सफेदी ने आसमान का स्हाय रंग उडा डाला….
रात की हुकूमत लुट जाने से इन उदास तारों ने खुद को छिपा डाला….
उनके इश्क़ की हुकूमत ही इतनी थी हमारी रुह पर के ना चाहते हुए भी हमने उन्हें अपनी मल्लिका बना डाला……

Kabhi tum hume kareeb se aa k dekhna…
Itna mushkil nahi hu, zara sa samaj k dekhna….

Main tumhe ek behtarin insaan ki tarah nazar aaunga, Read more

Maine Chand ki Chandani ko bikharte dekha hai…
Is samay ko chalte or kismat ko badalte dekha hai…
Ye sab wakai itne haseen nahi jitni aapki nazaakat hai…
Maine sitaro ko bhi aapse chup kar ,aapko niharte dekha hai…

हाथो मे शराब बदलती रहती है,
नशे का असर वही रहता है….
कमबख्त तसवीरें बदलती रहती है
पर कत्ल करने का अन्दाज़ वो ही रहता है …

Wo Puri tarah zindagi m aate bhi nahi…
Kahi dafa koshis ki par aankho k saamne se jaate bhi nahi….
Wo kahenge 1 baar to 100 baar bhi chal denge,   Read more

जख्मी दिल का इलाज खुद को उचाईयो पर पहुंचाने में नहीं……
थोडा नीचे  आ कर दूसरों को उचाईयो पर ले जाने में हैं …..
दोस्ती का मतलब पास रहने में नहीं…….
ये तो दूर  रह कर भी उनकी धडकनो को समझ जाने में हैं ……

Aap k chehare ki muskaan p to sab fida the….
Hume to aapki aankho k piche k aansuo ne dewaana kar Diya….
Yu to hum bhi jaante the aapka milna humari kismat m nahi…
Par Saale harami dil ne hi haar maanne se inkaar kar Diya….

जिन्दगी की सरलता से परहेज हो गया….
हमें उस दिन जिन्दगी से फिर इश्क़ हो गया….
जब पाई शिक्सत उन गलियों में जीनमे उनका ठिकाना था…
लगा बिना ईद  ही ईद के चॅाद का दिदार हो गया ….

Wo zamana nahi milta….
Bachpan ki tarah bina wajah hasne ka fasana nahi mitla….
Is khuda ki jannat mein do hi cheeze to behatar hain…
ek wo maasumiat ki hassi aur ek wo bachpan Jo dobara nahi milta….