ऐ अन्ज़ान,
जब मेरी जात से जी भर जाये तो बता देना,
मै आँख से आसूँ की तरह खुद ही निकल जाऊंगा।

Facebook Comment

Internal Comment

Leave a Reply