कमी तेरे नसीबों में रही होगी, कि तू मेरी ना हुई,
मैने तो कोशिश बहुत की, तुझे अपना बनाने की…
~मनोज सिंह “मन”

Facebook Comment

Internal Comment

Leave a Reply