क्या हार में क्या जीत में किंचित नही भयभीत में,
कर्तव्य पथ पर जो भी मिले जीत भी सही और हार भी सही !

Facebook Comment

Internal Comment

Leave a Reply