ख़ुशी के इस पल में ये दिल बस मुस्कुराए,
हर गम भुला के प्यार भरे सपने सजाए,
इन हसीन पलों की खुशबु इस दिल को बहुत भाए,
शायद इन पलों का संगम ही जन्नत कहलाए।

-हैप्पी होली!

_________________________

खा के गुजिया, पीके भंग,
लगा के थोड़ा, थोड़ा सा रंग,
बजा के ढोलक और मृदंग,
खेले होली हम तेरे संग,

होली मुबारक हो!

_________________________
होली, होली होली है उसे दिवाली मत समझना।
हम तुम्हारे घर आयें तो हमें मवाली मत समझना।

-हैप्पी होली!

_________________________

लगा चुनरी में दाग छुपाऊं कैसे?
लगा चुनरी में दाग छुपाऊं कैसे,
अरे, छुपाती क्यों हो?

“सर्फ़ एक्सेल (Surf Excel) है ना।”
शुभ होली!

_________________________
होली आई, सतरंगी रंगों की बौछार लायी,
ढेर सारी मिठाई और मीठा-मीठा प्यार लायी,
आप की ज़िंदगी हो मीठे प्यार और खुशियों से भरी,
जिसमें समाए सातों रंग, यही शुभकामनाएं हैं हमारी।

-होली की शुभकामनाएं!

Facebook Comment

Internal Comment

Leave a Reply