आँखो में मेरे शराब है
पुरा बदन शब्ब है
अगर चाहत हो हुजूर को होठो से जाम चकने की
मयखाना -ए -शब्ब तैयार है।

Facebook Comment

Internal Comment

2 comments on “शराब

  • वाह क्या बात है निशा जी

    Reply

Leave a Reply