रात भर ख़्वाब आँखों में चलते
रहे सुबह जागे तो कुछ नींद
की खुमारी थी कुछ लौट
के आने से पलकें भारी थी…..
आभा..

Send to your FB Contact's Inbox

सुना है तेरी महफ़िल में सुकून-ए-दिल भी मिलता है,
मगर हम जब भी तेरी महफ़िल से लौटे बे-करार ही लौटे…

Send to your FB Contact's Inbox

सोने का रथ, चांदनी की पालकी;
बैठकर जिसमें है माँ लक्ष्मी आई;
देने आपको और आपके पूरे परिवार को; Continue reading

Send to your FB Contact's Inbox